Skip to main content of main site

Shahi Imam's decision is wrong

From Arvind's Facebook Post (Oct 31, 2014)

हम नरेंद्र मोदी सरकार की गलत नीतियों का विरोध करते आये हैं और आगे भी करते रहेंगे, परन्तु दिल्ली के शाही इमाम द्वारा देश के प्रधानमंत्री को नज़रअंदाज़ कर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री को अपने निजी समारोह के लिए निमंत्रण भेजना किसी नज़र से सही नहीं ठहराया जा सकता। खास कर उस परिस्थिति में जब पाकिस्तान लगातार सीमा पर गोलीबारी करता रहा हो। आपस मे मतभेद हो सकते है,पर शाही इमाम को देश के प्रधानमंत्री को छोड़ पाकिस्तानी प्रधानमंत्री को नही बुलाना चाहिए।

Translation: We have opposed the wrong policies of the Narendra Modi Govt and will continue to do so, however the decision of the Shahi Imam of Delhi to ignore the Prime Minister of India and go on to invite the Prime Minister of Pakistan cannot be termed correct under any situation. This is even more true in a situation when Pakistan continues to attack our soldiers on the border. One can have internal differences, but the Shahi Imam should not have invited the Pakistani Prime Minister. 

Make a Donation